भक्तों के चमत्कारिक अनुभव

पिंकी सूरी/हरी, अमरीका

जब मैं शायद 11 वर्ष की थी, मैं तब पहली बार मैंने बाबा से मिली थी, तब मम्मी और पापा कहीं जा रहे थे। उस समय मुझे गुरू के बारे में कोई अधिक समझ नहीं थी तथा मुझे इस बात का भी पता नहीं था कि किस प्रकार से उनकी कृपा से हमारे जीवन में परिवर्तन आता है और किस प्रकार से हमारे जीवन का निर्माण होता है। उन्होने हमें सीधे ही अपनी "शरण " में ले लिया, और पिछले 18 वर्षों में उन्होंने हमे बहुत कुछ दियाहै। उनके आशीर्वाद तथा कृपा से, हम मुस्कराते हुए अपने जीवन के उतार चढ़ावों से आगे बढ़ते जा रहे हैं।

1991 में, मेरे साथ लगभग मृत्यु तुल्य घटनाएं हुईं लेकिन मुझे केवल हल्की फुल्की खरोंचे ही लगी थीं, बाबा हमेशा मेरे साथ थे और उन्होने मेरी हर क्षण रक्षा की थी। मैं घोड़े से नीचे गिर गई थी, और मुझे केवल इतना ही याद है कि मैं बाबा का नाम ले रही थी। हर कोई यह सोच रहा था कि मुझे काफी चोटें लगी होंगी, लेकिन मेरे माथे पर छोटी सी सूजन ही हुई थी तथा बिलकुल वहीं पर ही मेरे लिए कोई आयोडेक्स लेकर खड़ा था। जय बाबा की।

मेरी 12वीं कक्षा की पढ़ाई के बाद, मुझे भरोसा था कि मैं आगे नहीं पढ़ूंगी तथा मैं एक फैशन डिजाइन बनना चाहती थी। मेरा चचेरा भाई यूके जा रहा था, तो मैंने अपने पापा से पूछा कि क्या मैं भी वहां जा सकती हूं, तथा उनका उत्तर "नहीं" था। मेरी एक कैमिस्ट की दुकान है, और मैं इतनी फीस और दूसरे खर्चे वहन नहीं कर सकता हूं। मैंने बाबा से कहने का निर्णय किया, और उन्होने कहा, "क्यों नहीं"। बाबा ने मेरे पापा से मुझे मेरी बैचलर डिग्री से लिए यूके भेजने के लिए कहा, और कहा कि वह पैसे का ध्यान रखेंगे। मैंने फार्म भरे और मुझे इतना मालूम था कि मैं यूके जा रही हूं। पापा को नहीं मालूम चला कि किस प्रकार से उनके कारोबार में वृद्धि हुई और वह मेरी फीस को वहन करने में सफल रहे। यह एक बड़ी रकम थी, लेकिन बाबा ने इसे आसान बना दिया। अनेक लोगों ने पापा से पूछा और वह हमेशा यह कहते थे कि "गुरू कृपा"।

कई बार मुझे लगा कि मैं हार गई हूं और घर वापस जाना चाहती थी, लेकिन बाबा ने मुझे डटे रहने की प्रेरणा दी. मम्मी मेरे बारे में हमेशा चिंतित रहती थी, लेकिन बाबा ने उन्हें हमेशा सांत्वना ही दी थी। वे हमेशा कहते थे कि मैं अपने पापा का बेटा हूं न कि बेटी। बाबा ने मुझे कहा था, कि "जब भी तुम्हें घर की याद आए, एक पानी का गिलास रखना और मुझे याद करना, मैं आऊंगा और तुम देखोगी कि पानी का स्तर कम हो गया है।" मैंने इस बात के लिए उनकी जांच की, तथा ऐसा हुआ भी। जय बाबा की। मेरे प्रोफेसर हमेशा मुझसे उच्च आकांक्षाए रखते थे, हालांकि मैंने कभी नहीं सोचा कि मैं शिक्षा के क्षेत्र में कोई बहुत आगे हूं, लेकिन बाबा ने हमेशा ऐसा कर दिखाया। उन्होने ग्रेजुएशन के बाद मुझे एक बहुत अच्छी नौकरी दिलवाई, तथा हमेशा मेरा ध्यान रखा। वे हमेशा कहते थे कि"मैं अपने शरणागत के हमेशा साथ हूं" तथा समय समय पर उन्होने मुझे ऐसा अहसास भी कराया। जय बाबा की।

1998 में मेरा बहुत ही बुरा वक्त था. "पुराने जन्म के कर्म काटने पड़ते हैं, लेकिन गुरू की शरण उन्हें 99% कम कर देती है"।यह मेरे जीवन का बहुत ही खराब समय था, लेकिन बाबा ने हर समय मेरी रक्षा की, मुझे और मेरे परिवार को वह बल और प्यार दिया जिससे हम इस कठिन दौर से भी निकल आए। उनकी कृपा से मेरी जरूरतों की पूर्ति के लिए एक बहुत अच्छी नौकरी मिली। मेरे नैतिक बल को ऊंचा रखने के लिए उनके कारण मुझे पदोन्नतियां प्राप्त हुई तथा कार्य स्थल पर बहुत अधिक सफलताएं प्राप्त हुई। वह स्वयं स्वास्थ्य की समस्या से जूझ रहे थे, लेकिन हमेशा वह मेरे बारे में पूछते थे। मेरी भारत की एक यात्रा के दौरान बाबा व्हीलचेयर पर थे, और वे किसी से बात नहीं करते थे। उन्होने खास मेरे लिए व्हीलचेयर को रोका और कहा, "पिंकी बेटा, अपने आप"। तब से वह बात मेरे लिए मेरे बल का स्रोत बनी हुई है। मैं बाबा से बहुत अधिक लड़ाई करती थी, रोती थी, प्रश्न पूछती थी, मेरे साथ ही ऐसा क्यों होता है, लेकिन वह हमेशा धैर्य धारण किए रहते थे और अपना स्नेह मुझ पर बरसाते थे। उन्होने मुझे एक पिता की तरह की बल और प्रेरणा दी, मां की तरह की प्यार और आश्रय दिया। बाबा की कृपा से आज मैं अपने पति के साथ बहुत खुश हूं तथा मेरा एक बेटा है तथा मैं शीघ्र ही दूसरे शिशु की मां बनने जा रही हूं। "गुरू की कृपा के बिना गुरू भी नहीं मिलते"। जय बाबा की।

आज शारीरिक रूप से बाबा हमारे साथ नहीं हैं, लेकिन वह हमेशा हमारे साथ हैं। बस हमें हमेशा इतना करना है कि हमें उन्हें सच्चे ह्दय से पुकारना है, और उनके आभास की अनुभूति हो जाएगी, फिर चाहे हम दुनिया के किसी भी भाग में क्यों न हों। हमें उनके शब्दों को याद रखना और उनका पालन करना है, एक आज्ञाकारी बच्चे की तरह, न किसी जिद्दी बच्चे की तरह, क्योंकि गुरूजी कहा करते थे कि , "भाव में ही भाव है मेरा"



लिस्टिंग के लिए वापस


Site by Magnon\TBWA